Breaking News

DARD BHARI SHAYARI

Dard Bhari Shayari

और कोई गम नहीं एक तेरी जुदाई के सिवा, मेरे हिस्से में क्या आया तन्हाई के सिवा, यूँ तो मिलन की रातें मिली बेशुमार, प्यार में सब कुछ मिला शहनाई के सिवा.. जीना चाहा तो जिंदगी से दूर थे हम मरना चाहा तो जीने को मजबूर थे हम सर झुका कर कबूल कर ली हर सजा बस कसूर इतना था ... Read More »